- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

राम जन्मभूमि आतंकी हमला : 14 साल बाद चार को उम्रकैद की सजा, एक बरी

एक आरोपी मोहम्मद अजीज को बरी कर दिया है।

0 8

प्रयागराज (संदेशवाहक न्यूज)। करीब 14 साल पहले 2005 में अयोध्या के राम जन्मभूमि परिसर में हुए आतंकी हमले में मंगलवार को इलाहाबाद की स्पेशल ट्रायल कोर्ट ने चार आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। जबकि एक आरोपी मोहम्मद अजीज को बरी कर दिया है। कोर्ट के फैसले को देखते हुए अयोध्या सहित कई प्रदेश के कई जिलों में सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। जज दिनेश चंद्र की कोर्ट में मामले को लेकर 11 जून को बहस पूरी हो गई थी, जिसके बाद मंगलवार को सजा सुनाई गई।

क्या है पूरा मामला
पांच जुलाई 2005 की सुबह करीब नौ बजे राम जन्मभूमि परिसर में तेज धमाका हुआ था। उस समय मंदिर में काफी भीड़ थी, लोग भगवान राम की पूजा अर्चना कर रहे थे। आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के इस हमले में एक टूरिस्ट गाइड समेत सात लोगों की मौत हो गई थी। वहीं, जवाबी कार्रवाई में पांचों आतंकियों को मार गिराया गया था। आतंकियों से मोर्चा लेने के दौरान सीआरपीएफ और पीएसी के सात जवान गंभीर रूप से घायल हो गए थे। आतंकी हैंड ग्रेनेड, एके 47, राकेट लांचर से लैस थे। उन्होंने उस जीप को भी ब्लास्ट कर उड़ा दिया था, जिससे वो अयोध्या पहुंचे थे।

पुलिस जांच में आतंकियों को असलहों की सप्लाई करने और उनकी मदद करने के आरोप में आसिफ इकबाल, मो. नसीम, मो. अजीज, शकील अहमद और डॉ. इरफान को गिरफ्तार किया गया था। 2006 में प्रयागराज की विशेष कोर्ट के आदेश पर इन सभी आरोपियों को फैजाबाद से प्रयागराज की सेंट्रल जेल नैनी जेल भेज दिया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

nine − three =