- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

बाराबंकी : घोटालेबाज बीएसए ऑफिस के बड़े बाबू गिरफ्तार, घर से 21 लाख बरामद

पुलिस ने कहा एमडीएम घोटाले की है बरामद रकम, आजाद नगर में है घर

0 675

साढ़े चार करोड़ के घोटाले में पहले जेल जा चुके है पांच लोग

बाराबंकी (संदेशवाहक न्यूज)। बेसिक शिक्षा अधिकारी के दफ्तर में तैनात बड़े बाबू को पुलिस ने 21 लाख की रकम के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने कहा आजाद नगर स्थित बाबू के घर से मिली ये रकम एमडीएम घोटाले की है। इस घोटाले में पांच लोगों की गिरफ्तारी पहले ही हो चुकी है।

विकास भवन के निकट बेसिक शिक्षा अधिकारी कार्यालय में अखिलेश शुक्ला बड़े बाबू के पद पर तैनात हैं। मूल रूप से गाजीपुर रामसनेहीघाट के निवासी अखिलेश यहां शहर के मोहल्ला आजाद नगर में रहते हैं। कोतवाली व क्राइम ब्रांच की टीम ने उन्हें कल दफ्तर से हिरासत में ले लिया था।

क्राइम ब्रांच पहले से ही एमडीएम घोटाले की जांच कर रही थी। इसी मामले में जांच के दौरान अखिलेश का नाम सामने आया तो पुलिस ने ताना बाना बुनना शुरू कर दिया। पर्याप्त सबूत मिलने के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

सीधे बीएसए ऑफिस से उसे उठाने के बाद पुलिस ने पूछताछ की और उसके घर से 20 लाख 98 हजार 670 रुपये बरामद कर लिए। क्राइम ब्रांच ने इससे पहले एमडीएम घोटाले में राजीव शर्मा, रहीमुद्दीन, साधना, रोज सिद्दीकी व रघुराज को पहले ही गिरफ्तार कर चुकी है।

दिसम्बर 2018 में दर्ज हुआ था मुकदमा

जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी वीपी सिंह ने 29 दिसम्बर 2018 को नगर कोतवाली में घोटाले का मुकदमा दर्ज कराया था। मुकदमे के मुताबिक शासन द्वारा दी गई 4 करोड़ 48 लाख की रकम स्कूलों के एमडीएम खाते में जानी थी।

इसके बावजूद एमडीएम के समन्वयक राजीव शर्मा ने अपने सहयोगी रहीमुद्दीन आदि के साथ मिलकर पूरा गिरोह बनाया और इस रकम को निजी खातों में भेजना शुरू कर दिया।

एमडीएम खातों की पासबुक अपडेट कराकर शासन से कोषागार भेजी गईं। रकम से मिलान करने पर हेराफेरी पकड़ी गई थी। साढ़े चार करोड़ की रकम इसी पूरे गिरोह के सदस्यों के निजी खाते में जमा थी।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.

5 + 3 =