- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

Browsing Category

धरम-करम

लॉकडाउन के बीच रिकॉर्ड-तोड़ पढ़ी गयी गीता प्रेस की किताबें

गीताप्रेस के उत्पादक प्रबंधक लाल मणि त्रिपाठी ने बताया कि सोमवार से गीता प्रेस खुल रहा है। पाठकों का आना-जाना भी शुरू हो गया है। हालांकि अभी बहुत हलचल नहीं है…

इस विधि से करें सोमवार को पूजा, जरूर पढ़े व्रत कथा

इस व्रत मे फलाहार का कोई खास नियम नहीं है। इस व्रत में रात मे केवल एक बार भोजन किया जाता है। व्रत में शिव, पार्वती की पूजा करते हैं। सोमवार के व्रत में पूजा के…

धरम करम: सोमवार से धर्मस्थलों को खोलने का निर्देश, सभी धर्मगुरुओं ने किया सशर्त स्वागत

कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को रोकने के लिए सरकार द्वारा लॉकडाउन को अनलॉक करने के बाद जिस प्रकार से धर्मस्थलों को सर्शत खोलने की इजाजत दी गई है उसका समर्थन…

Eid Ul Fitr 2020: आज दिख सकता है चाँद, 25 मई को देश के अधिकांश हिस्से में मनाया जाएगा…

उन्होंने कहा कि लोगों को हाथ मिलाने और एक-दूसरे को गले लगाने से बचना चाहिए और कोरोना वायरस के प्रसार की किसी भी संभावना से बचने के लिए सभी को सरकार के…

नारी संसार: महिलाओं ने की वट वृक्ष की पूजा, पति की लंबी आयु के लिये रखा व्रत

पूजा के दौरान कोरोना का काफी प्रभाव दिखा इस बार महिलाएं बाहर कम निकली। घरों पर ही पेड़ की टहनी मंगा कर पूजा अर्चना की।

खत्म हुआ शबे कद्र की रात का इंतजार

नमाज व कुरान शरीफ पढ़ने के साथ ही हाथों में घूमती तस्बीह के साथ रात महकती रहती है। रोजेदार कहते है इबादत अल्लाह और बंदे के बीच का रिश्ता है इस रिश्ते में जगह कोई…

सहारनपुर: दारुल उलूम का फतवा, कोरोना संक्रमण के टेस्ट से रोजे पर कोई असर नहीं

जिला बिजनौर के स्योहरा निवासी अरशद अली ने दारुल उलूम के इफ्ता विभाग से सवाल किया था कि क्या रोजे की हालत में कोरोना वायरस का टेस्ट कराया जा सकता है।

दुर्लभ संयोग: अक्षय तृतीया, 23 वर्षों के बाद शुक्र-चंद्र और रोहिणी नक्षत्र का योग

इस दिन नक्षत्र भी रोहिणी भी रहेगा। ये योग 23 वर्षों के बाद बना है। 9 मई 1997 को भी ऐसे ही योगों में आखा तीज आई थी, उस समय गुरु भी नीच का यानी मकर राशि में ही…

हनुमान जयंती: सैनिक पाक से लाए थे हनुमान की मूर्ति, यहां बना ये प्रसिद्ध मंदिर

घंटी वाले हनुमान के नाम से प्रसिद्ध इस मंदिर में श्रद्धालु मन्नत पूरी होने पर घंटी चढ़ाते हैं। इसकी देखरेख व पूजा बीएसएफ करती हैं।

सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड की अपील, शब-ए-बरात पर घरों से ही करें दुआ

इसी तरह शिया और सुन्नी से आने वाले तमाम धर्मगुरुओं ने भी त्योहार को घरों में रहकर दुआ पढ़कर मनाने को कहा है।