- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

कोरोना यूपी में: 4 नए मरीज और मिले, बस्ती में चीन, थाईलैंड, हालैंड, हांगकांग से पहुंचे 165 लोग

देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश में गुरुवार सुबह चार नए मरीज मिले हैं।

0 39

लखनऊ (संदेशवाहक न्यूज़ डेस्क)। देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। उत्तर प्रदेश में गुरुवार सुबह चार नए मरीज मिले हैं। यूपी में अब संख्या बढ़कर 42 पहुंच गई है।

कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया में मचे हड़कंप के बीच बस्ती जिले में अबतक चीन, थाईलैंड, हॉलैंड, श्रीलंका, हांगकांग, मस्कट, इंडोनेशिया, सउदी अरब सहित विभिन्न देशों से 165 लोग आ चुके हैं। इनमें से अधिकांश की फिजीकल जांच स्वास्थ्य विभाग की टीम ने की है।

जिले में अपने ही देश के विभिन्न हिस्सों से भी लगभग दौ सौ लोग पहुंचे हैं, जिनकी सूचना स्वास्थ्य विभाग के कंट्रोल रूम तक पहुंची है। हालांकि इनके हाथ पर टीम मुहर लगा रही है, मगर अब भी तमाम लोग अपने आवगमन की सूचना छिपा रहे हैं, जिससे कोरोना वायरस के संक्रमण की संभावना हो सकती है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बार-बार देशवासियों से घरों में रहने और सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील कर रहे हैं, लेकिन भारतीय जनता पार्टी के नेता ही उनकी अपील को नजर अंदाज कर रहे हैं। फिरोजाबाद के भाजपा सांसद डॉ. चंद्रसेन जादौन भी ऐसी ही गलती कर बैठे। गुरुवार को भाजपा सांसद डॉ. चंद्रसेन जादौन जब मास्क बांटने जसराना पहुंचे तो प्रधानमंत्री मोदी की सामाजिक दूरी बनाए रखने की अपील को भूल गए। उनकी गाड़ी के आसपास लोगों की भीड़ लग गई। भीड़ के बीच सांसद काफी देर तक मास्क बांटते रहे। न तो लोगों ने सामाजिक दूरी का ध्यान रखा और न ही सांसद ने खुद दूरी बनाई।

अलीगढ़ में लॉकडाउन के बीच फैली अफवाह

अलीगढ़ में आज सुबह लोगों के फोन में एक मैसेज आया जिसमें लिखा था कि सरकार द्वारा दिए जाने वाले राशन और आर्थिक सहायता का लाभ लेने के लिए सभी को कुछ जरूरी दस्तावेज लेकर नगर निगम आना है। इसके बाद लॉकडाउन के बावजूद 600-700 महिला पुरुण भीड़ बनाकर निगम के दफ्तर पहुंच गए।

कानपुर में 215 एफआईआर दर्ज

कोरोना वायरस के चलते कानपुर के लॉकडाउन होने के बाद भी निर्देशों का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस का डंडा चला। जिले भर में पुलिस ने अब तक 215 एफआईआर दर्ज कर 1114 लोगों को गिरफ्तार किया है।

घर में ही मुहैया कराए जाएंगे जरूरी सामान

आमजन को सुविधाएं मुहैया कराने के लिए आगरा जिला प्रशासन व्यवस्थाएं करने में जुटा हुआ है। बाजारों में भीड़ न जुटे इसलिए प्रशासन ने जरूरी सेवाओं को छोड़कर सभी दुकानें बंद करने के सख्त निर्देश दिए हैं। ऐसे में शहरवासियों को राशन, फल-सब्जी और दवा जैसी चीजें घर में ही मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए प्रशासन ने विक्रेताओं के नंबर जारी कर दिए हैं।

देवरिया: पुलिस के सामने तलवार लेकर खड़ी हुई महिला

उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले में नवरात्र के प्रथम दिन मेहड़ापुरवां में एक कथित दुर्गा देवी के वहां लगी भीड़ को हटाने पहुंची पुलिस और प्रशासन की टीम से लोग उलझ गए। दुर्गा देवी बनी महिला ने तलवार से एसडीएम और सीओ पर प्रहार कर दिया। संयोग ही रहा कि किसी को चोट नहीं लगी। बाद में पहुंची फोर्स ने कथित दुर्गा देवी के साथ ही 12 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। गंभीर धाराओं में केस दर्ज कर सभी को जेल भेज दिया गया।

सदर कोतवाली के मेहड़ापुरवां में परिषदीय शिक्षक शिव प्रसाद यादव की पत्नी सुभद्रा देवी वर्षों से अंधविश्वास का धंधा चलाती है। दूर-दूर से महिला और पुरुष यहां आते हैं। उनको यहां ठीक करने का दावा किया जाता है। कई महिलाओं और लड़कियों को एक ही कमरे में बंद कर दिया जाता है।

बुधवार की सुबह जिला प्रशासन को सूचना मिली कि यहां काफी भीड़ है। एसडीएम दिनेश मिश्र और सीओ सिटी निष्ठा उपाध्याय के नेतृत्व में टीम वहां पहुंची। करीब 100 की संख्या में मौजूद महिला-पुरुषों ने विरोध शुरू कर दिया। दुर्गा देवी का रूप धारण की सुभद्रा देवी तलवार से इन लोगों पर वार कर दी। संयोग ही रहा कि तलवार किसी को लगा नहीं। बाद में पहुंची फोर्स ने कड़ाई कर 12 लोगों को पकड़ लिया।

कानपुर सहित आसपास के 13 जिलों उन्नाव, औरैया, फर्रुखाबाद, कन्नौज, हरदोई, महोबा, बांदा, हमीरपुर, उरई में लॉक डाउन के दूसरे दिन भी सुबह से ही बाजारों में खरीदारों की भारी भीड़ रही। राशन की दुकानों सब्जी मंडी और पूजन सामग्री की दुकानों पर लोग खरीदारी करते हुए नजर आए। कुछ इलाकों में लॉक डाउन की धज्जियां उड़ती नजर आई।

रेलवे के खाली पड़े कोचों को अस्पताल बनाने की तैयारी

देश में बढ़ रहा है कोरोना संक्रमण के बढ़ते मरीजों को देखते हुए रेलवे के यार्ड में खड़े कोचों को अस्थाई अस्पताल बनाने की तैयारी की जा रही है। इसके लिए रेलवे के एसी फर्स्ट और एसी 2 कोचों का इस्तेमाल किया जा सकता है। क्योंकि कोचों में लोवर बर्थ के अलावा टॉयलेट की भी सुविधा है, और इन्हें कहीं भी लाना ले जाना आसान है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

nine − one =