- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

मुस्लिम धर्मगुरु फिरंगी महली ने कहा-अयोध्या फैसले से पहले मस्जिदों में की जाएगी भाईचारा बनाए रखने की अपील

अयोध्या मामले को लेकर पूरे देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिकीं हैं। योगी सरकार ने भी इसको देखते हुए अयोध्या सहित कई जिलों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है।

0 5

लखनऊ (संदेशवाहक न्यूज डेस्क)। अयोध्या मामले को लेकर पूरे देश की निगाहें सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर टिकीं हैं। योगी सरकार ने भी इसको देखते हुए अयोध्या सहित कई जिलों में सुरक्षा व्यवस्था कड़ी कर दी है। इस बीच मुस्लिम धर्मगुरु और ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मौलाना खालिद रशीद फिरंगी महली ने शुक्रवार को कहा, अयोध्या मसले के फैसले से पहले मस्जिदों में आपसी भाईचारा बनाए रखने की अपील की जाएगी। हम अपील करेंगे कि कोर्ट से चाहे जो भी फैसला आए समाज में अमन-चैन बना रहे। किसी भी शख्स को घबराने की जरूरत नहीं है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सबको भरोसा होना चाहिए। किसी की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने की कोई बात नहीं करनी चाहिए।

अयोध्या के अलावा मथुरा पुलिस भी अलर्ट मोड पर है। प्रदेश सरकार ने पहले ही एहतियातन सभी पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की 30 नवंबर तक की छुट्टियां रद्द कर दी है। संवेदनशील जिलों के डीएम और एसएसपी शहर की गंगा-जमुनी तहजीब को बनाए रखने की कोशिश में जुटे हैं।

बता दें, अयोध्या मामले में सुनवाई पूरी हो चुकी है. माना जा रहा है कि चीफ जस्टिस रंजन गोगोई 17 नवंबर को सेवानिवृत्त होने से पूर्व इस मामले में फैसला सुनाएंगे। फैसले से पहले एतिहात के तौर पर एलआईयू (LIU), आइबी (IB) को सक्रिय कर दिया गया है। सीओ, थानाध्यक्ष, एसडीएम ग्रामीण क्षेत्रों में नजर गड़ाए हुए हैं। थानाध्यक्ष गांवों में जाकर लोगों के साथ बैठक कर रहे हैं। उन्हें किसी भी तरह की अफवाह पर ध्यान न देने व किसी अनहोनी की आशंका होने पर तत्काल सूचना देने के लिए प्रेरित कर रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

9 − one =