- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

वकीलों ने कोर्ट में किया बवाल, जज से किया अभद्रता

कार्बाइन छीनने की कोशिश, 50 अज्ञात वकीलों पर मुकदमा दर्ज।

0 51

बाराबंकी (संदेशवाहक न्यूज डेस्क)। मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण के कोर्ट में शुक्रवार की दोपहर अफरा तफरी मच गई। लगभग 50 से अधिक वकीलों ने यहां मौजूद जज के साथ जमकर अभद्रता कर हंगामा खड़ा कर दिया। उनका हाथ पकड़ कर खीचा यह देख कर बचाव में आये जज के गनर से उसकी कार्बाइन छीनने का प्रयास भी किया। दर्जनों वकीलों का उग्र रूप देख कर जज ने किसी तरह अपनी जान बचाई। मामले में एफआईआर दर्ज की गई है। सीसीटीवी फुटेज के सहारे वकीलों की खोजबीन पुलिस ने शुरू कर दी है।

बता दें कि लखनऊ रोड के किनारे एलआईसी दफ्तर के निकट मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण का कोर्ट है। यहां पीठासीन अधिकारी संदीप जैन की नियुक्ति है। शुक्रवार की दोपहर लगभग डेढ़ बजे पीठासीन अधिकारी संदीप जैन अपने स्टेनो अजीत प्रताप सिंह को एक आदेश टाइप करवा रहे थे। गनर अवधेश भी आसपास मौजूद था। इसी दौरान पचास से अधिक वकील कोर्ट रूम में दाखिल हुए। ये देखकर जज संदीप जैन भी चौंक गए। इतने में भीतर आये वकीलों ने उनका हाथ पकड़कर खींचा और कॉलर भी पकड़ लिया। जज के मुताबिक वकीलों ने हड़ताल के दिन काम करने का विरोध किया। इसी के साथ ही गालियां देनी शुरू कर दी। कहा देखे कैसे काम करते हों।

वही वकीलों के इस हंगामे के दौरान वहां मौजूद गनर अवधेश ने उत्पाती वकीलों को रोकने की कोशिश की। इस पर वकील और भड़क गए गनर की कार्बाइन छीनने की कोशिश करने लगे। गनर कार्बाइन बचाने में लग गया इधर वकील जज संदीप जैन से भी अभद्रता करते रहे। चपरासी शशिकांत वकीलों की हरकत का मोबाइल से वीडियो बनाया जाने लगा तो वकीलों ने मोबाइल भी छीन लिया।

इस दौरान वहां मच रहे शोर शराबे से भीड़ लग गई वकीलों को भी लगने लगा कि कहीं पुलिस न आ जाये इसीलिए धमकी देते हुए वहां से निकल गए। कोर्ट में जज के साथ वकीलों द्वारा मारपीट किये जाने की खबर फैलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गईं। एसडीएम सीओ ने जज संदीप जैन से पूरे घटनाक्रम की जानकारी ली। सरकारी काम मे बाधा डालने के साथ ही 147/149/ 323/ 504/ 506 धाराओं में पचास से अधिक अज्ञात वकीलों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है।
पुलिस की जांच में आसपास सीसीटीवी कैमरे लगे पाए गए है। एएसपी अशोक कुमार का कहना है कि सीसीटीवी फुटेज के सहारे वकीलों की पहचान की जा रही है। पुलिस का मानना है कि वकीलों के साथ कुछ अन्य लोग भी इस उपद्रव में शामिल थे।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

three × 2 =