- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

ट्रेनिंग शुरू करने को लेकर एनएसएफ की जवाबदेही संदेहास्पद, आइएओ निराशा

नहीं दे सका राष्ट्रीय खेल महासंघ (एनएसएफ) समयसीमा के अंदर जवाब

0 46

नई दिल्ली (संदेशवाहक न्यूज़ डेस्क )। कोरोना महामारी के बीच राष्ट्रीय शिविरों को दोबारा शुरू करने को लेकर भारतीय ओलंपिक संघ (आइओए) को मिली प्रतिक्रिया में खिलाडिय़ों का दबदबा रहा लेकिन कई राष्ट्रीय खेल महासंघ (एनएसएफ) तय सीमा के अंदर जवाब नहीं दे सके, जिससे आइओए के अध्यक्ष नरेंद्र बत्रा काफी निराश हैं।

आइओए ने पांच मई को मौजूदा लॉकडाउन के बीच खिलाडिय़ों के प्रेरणा खोने का वास्तविक खतरा होने को स्वीकार किया है और आउटडोर ट्रेनिंग कैसे दोबारा शुरू की जाए इसे लेकर खिलाडिय़ों के अलावा कोचों की प्रतिक्रियाएं मांगी थी। देश में आइओए से मान्यता प्राप्त लगभग 40 एनएसएफ और 35 राज्य ओलंपिक संघ हैं। इनमें से 18 ओलंपिक खेलों को 20 मई तक जवाब देने को कहा गया था लेकिन आइओए के अनुसार इनमें से सिर्फ सात ने समय सीमा से पहले जवाब दिया है जिसमें तीरंदाजी, हॉकी, रोइंग, स्क्वाश, वॉलीबॉल, भारोत्तोलन और याटिंग शामिल हैं।

बत्रा ने कहा ओलंपिक में खेले जाने वाले खेलों में गंभीरता की कमी से निजी तौर पर निराश हूं जिन्हें 20 मई तक जवाब देना था लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया। मुझे उम्मीद है कि जो एनएसएफ और राज्य ओलंपिक संघ 30 मई तक जवाब देंगे वे इसे गंभीरता से ले रहे हैं और 20 मई की समयसीमा से चूकने वाले जल्द जवाब देंगे। आइओए के पास अब तक जो 430 प्रतिक्रियाएं आई हैं उनमें 40 प्रतिशत से अधिक खिलाडिय़ों की हैं। मैच अधिकारियों की प्रतिक्रिया 33 प्रतिशत से अधिक है जबकि खेल प्रशासकों और हाई परफोर्मेंस सहायक टीम की प्रतिक्रिया ्रक्रमश: 14.9 और 7.9 प्रतिशत है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

seven − 2 =