- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस सांप की है मांग, ये है कीमत

वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत सांप की संरक्षित प्रजाति है।

0 11

ठाणे (संदेशवाहक न्यूज डेस्क)। महाराष्ट्र के नवी मुंबई टाउनशिप से एक व्यक्ति के पास से 50 लाख की कीमत का रेड सैंड बोआ सांप को पाल रखा था जिसे जब्त कर लिया गया है। ये वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के तहत सांप की संरक्षित प्रजाति है। इस मामले में संबंधित व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बता दें कि पुलिस सहायक निरिक्षक नीलेश राणे ने बताया कि ये सांप नवी मुंबई के पनवेल इलाके के पास लगे एक वन्यजीव बाजार से जब्त किया गया है, इसकी कीमत 50 लाख रुपये बतायी गयी है। इस सांप को बेचने की कोशिश कर रहे, 20 वर्षीय जाधव नाम के व्यक्ति को भी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है, भारतीय दंड संहिता और वन्यजीव संरक्षण अधिनियम के प्रासंगिक प्रावधानों के तहत मामला दर्ज कर लिया गया है।

रेड सैंड बोआ की खासियत

वही सांप की इस प्रजाति सैंड बोआ का उपयोग दवाओं, सौंदर्य प्रसाधनों और जादू टोने के कार्यो के लिए किया जाता है, अंतरराष्ट्रीय बाजार में इस सांप की भारी मांग है। इस सांप में जहर नहीं पाया जाता, इसका आकार अन्य सांप के मुकाबले कुछ भिन्न होता है, इसक सिर और पूूंछ का आकार गोल होता है जिसकी वजह से इस सांप के दो सिर होने के भ्रम होता है। इस सांप को दिखाकर लोगों को बेवकूफ बनाया जाता है कि इस सांप से सौभाग्य आता है।

बताते चले कि ये सांप रात में ही बाहर निकलता है, आकार में मोटा होने के कारण इसकी चाल सुस्त होती है। इस सांप की खास बात ये है कि ये कभी भी अपना बिल नहीं बनाता, ये चूहों के बनाये बिलों में घुस जाता है। ये दूसरे सांपों को भी अपना भोजन बना लेता है। मादा रेड सैंड बोआ एक बार में कम से कम छह बच्चों को जन्म देती है। पुलिस आरोपित की तलाश कर रही है और इस बात का पता लगा रही है कि वह ये सांप क्यों बेचना चाहता था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

two × four =