- Advertisement -

- Advertisement -

- Advertisement -

महिला टी-20 विश्व कप: ऑस्ट्रेलिया महिला टीम बनी पांचवी बार विश्वकप चैंपियन, भारत की करारी हार

महिला टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 85 रन से हरा दिया। मेलबर्न में खेले गए मैच में टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को 185 रन का लक्ष्य दिया था।

0 50

मेलबर्न (संदेशवाहक न्यूज़ डेस्क)। महिला टी-20 वर्ल्ड कप के फाइनल में ऑस्ट्रेलिया ने भारत को 85 रन से हरा दिया। मेलबर्न में खेले गए मैच में टॉस जीतकर ऑस्ट्रेलिया ने भारतीय टीम को 185 रन का लक्ष्य दिया था। इसके जवाब में भारतीय टीम 19.1 ओवर में 99 रन पर ऑलआउट हो गई। ऑस्ट्रेलिया ने रिकॉर्ड पांचवीं बार यह खिताब अपने नाम कर लिया है।

अब तक टूर्नामेंट में बढ़िया प्रदर्शन करने वाली शेफाली वर्मा मात्र 2 रन बनाकर पवेलियन लौट गयी। भारत की ओर से दीप्ति शर्मा ने सर्वाधिक 33 रन बनाए, उनके अलावा वेदा कृष्णामूर्ति ने 19 और ऋचा घोष ने 18 जबकि स्मृति मंधाना ने 11 रन बनाए। ऑस्ट्रेलिया की ओर से मेगान स्कट ने 4 और जेस जोनासन ने 3 जबकि सोफी मोलिन्यूक्स, डेलिसा किमिंस और निकोला कैरी ने एक-एक विकेट लिया।

करीब 80,000 दर्शकों की मौजूदगी में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी ऑस्ट्रेलियाई टीम ने तूफानी शुरुआत करते हुए 20 ओवर में चार विकेट पर 184 रनों का स्कोर बनाया। ऑस्ट्रेलियाई ओपनर एलिसा ने ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करते हुए मात्र 39 गेंदों में 75 रन बनाये है, वहीँ मूनी ने भी ऑस्ट्रलिया के लिए शानदार 78 रन की नाबाद पारी खेली। यह एलिसा हिली के करियर का 12वां और मूनी का 9वां अर्धशतक है। भारत की दीप्ति शर्मा ने 4 ओवर में 38 रन देकर सबसे ज्यादा 2 विकेट लिए।

इससे पहले मेजबान टीम छठी बार फाइनल में पहुंची थी जबकि भारतीय टीम पहली बार फाइनल खेल रही थी। मेग लैनिंग ने टॉस जीतकर बैटिंग करने का फैसला किया । ऑस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा की हमें आज अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन की जरूरत है। लेकिन भारत एक महान पक्ष है उम्मीद है कि यह शानदार खेल होगा। वहीँ टॉस हारने के बाद हरमनप्रीत कौर ने कहा की मेरी माँ कहीं स्टैंड में ही बैठी हैं। यह दबाव का खेल है और हम पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे। उम्मीद है कि गेंदबाज उन्हें प्रतिबंधित करेंगे। टीम आज अपना सर्वश्रेष्ठ शॉट देना चाहते हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

sixteen − 8 =